लोगों को यातायात नियमों का पालन करने का उपदेश देने वाली यातायात पुलिस अपने दायित्व के प्रति कितना सजग है इसका उदाहरण रविवार को शहर के व्यस्त चौराहे दिल्ली गेट पर देखने को मिला। यहां पुलिस गुमटी से यातायात कर्मी डेढ़ घंटे से भी अधिक समय तक गैर हाजिर रहे, जिससे यातायात व्यवस्था चरमरा गई। लोग खुद सीटी मारकर यातायात व्यवस्था को सुचारु करने का प्रयास करते दिखे।सवा घंटे बाद पुलिस थाने में दोपहर 1.51 पर दूरभाष नंबर 222522 पर कॉल कर मामला संज्ञान में लाया गया, तब जाकर यातायात पुलिस कर्मी आनन फानन में कार्यस्थल पर पहुंचा। लोगों ने बताया कि यहां पुलिस गुमटी में कोई पुलिस कर्मी तैनात नहीं है। कुछ युवाओं ने अपनी बाइक तक फुटपाथ पर खड़ी कर दी है जिससे लोगों को आवागमन पर दिक्कत आ रही है। अमर उजाला टीम मौके पर पहुंची तो वहां कोई भी पुलिस कर्मी मौजूद नहीं था।

चौराहे पर वाहनों को आने-जाने में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा था। अव्यवस्था का आलम यह रहा कि एक निजी बस का कंडक्टर खुद नीचे उतर कर पुलिस कर्मी की जगह यातायात को काबू करने का प्रयास करने लगा। उसने बड़ी मुश्किल से सीटी बजा बजाकर जाम खुलवाया। जिला मुख्यालय नाहन के डीएसपी परमदेव ठाकुर ने कहा कि हो सकता है ट्रैफिक कर्मी इधर-उधर ड्यूटी देने गए हों। इस बात की जांच की जाएगी कि पुलिस कर्मी अपने कार्यस्थल पर क्यों नहीं थे।