नवादा के नारदीगंज थाना क्षेत्र के कहुआरा गांव निवासी अवधेश कुमार की हत्या का पर्दाफाश नहीं होने से आक्रोशित लोगों ने रविवार को एनएच 82 पर सड़क जाम कर दिया। पुलिस ने जाम करने वाले लोगों को हटाने के लिए लाठीचार्ज कर दी। इससे आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए। हालांकि नारदीगंज थानाध्यक्ष दीपक कुमार राव ने लाठीचार्ज से इन्कार किया है। एनएच 82 पर बजरंग बली मंदिर के पास गांव के लोग सड़क जाम करने जा रहे थे। ग्रामीणों को हटाने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। 
इससे लीला देवी, मन्ती देवी, सोहाग देवी, सन्ती देवी, मुनेश्वरी देवी, सुबोध कुमार, पवन कुमार आदि घायल हो गए। सभी का इलाज सदर अस्पताल में हुआ। मालूम हो कि कहुआरा गांव निवासी अवधेश कुमार बीते 27 नवंबर को घर से लापता था। एक दिसंबर को गांव से कुछ दूर आगे बधार के पास जमीन पर गाड़ा हुआ शव बरामद हुआ। हत्या के मामले में पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया लेकिन किसी को रिमांड पर लेकर पूछताछ भी नहीं की। 

अवधेश कुमार के भाई सुबोध कुमार राव ने आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस हत्याकांड के बाद जांच करने गांव भी नहीं पहुंची। पुलिस की इसी निष्क्रियता के खिलाफ धरना-प्रदर्शन का कार्यक्रम तय था। इसकी सूचना भी अधिकारियों को दी गई थी। हम लोग जैसे ही बजरंगबली मोड़ के पास पहुंचे, पुलिस ने लाठियां चलानी शुरू कर दी जिससे आधा दर्जन से अधिक लोग जख्मी हुए हैं। इसकी सूचना वरीय अधिकारियों को दी गई। जिसके बाद सदर एसडीएम अनु कुमार सदर अस्पताल पहुंचे और लोगों से घटना की जानकारी ली।