बहादुरी दिखाते हुए एक युवती ने अपने सहकर्मियों के साथ मिलकर साधु के वेश में लोगों से ठगी करने वाले दो आरोपियों को दबोच लिया। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। पुलिस के अनुसार, हरियाणा के चरखी दादरी स्थित गांव मनका बांस निवासी दीपिका सांगवान ने 21 अक्तूबर को थाना एक्सप्रेस-वे पुलिस को शिकायत दी थी। युवती ने बताया कि वह शाहबेरी में देव हाइट्स सोसाइटी में रहती है और सेक्टर-126 स्थित ब्रोकरेज फर्म इन्वेस्टर क्लीनिक में सेल्स एग्जीक्यूटिव है। 
21 अक्तूबर की सुबह वह करीब 11 बजे दफ्तर जा रही थी। जब वह तपस्या बिल्डिंग के पास पहुंची तो काले कपड़े पहने साधु के वेश में दो व्यक्ति मिले। उन्होंने युवती से खाना खाने के लिए 10 रुपये मांगे। जब युवती ने उन्हें रुपये देने के लिए पर्स खोला तो उन्होंने पर्स में नकदी देख ली। इसके बाद आरोपियों ने दीपिका को नशीला पदार्थ मिला हुआ प्रसाद दे दिया, जिसे खाते ही वह बेसुध हो गई। ठगों ने उसके पर्स में रखे रुपये मांगे तो अर्द्घबेहोशी की हालत में युवती ने 32 हजार रुपये दे दिये। 

इसके बाद आरोपी फरार हो गए। होश आने पर पीड़िता ने पुलिस से शिकायत की। एक्सप्रेस-वे पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। पीड़िता ने बताया कि सोमवार को वह कंपनी के सहकर्मी श्याम गौतम, आरिफ, मोहित के साथ सेक्टर-104 स्थित हाजीपुर मार्केट में खरीदारी करने गई थी। इस दौरान दोनों ठग वहां घूमते हुए नजर आ गए। इस पर युवती ने अपने सहकर्मियों की मदद से दोनों को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया। आरोपियों की पहचान दिल्ली के गाजीपुर स्थित सपेरा बस्ती निवासी वीरनाथ और पीलूनाथ के रूप में हुई।