गुड़ के खौलते कड़ाहे में जा गिरा किसान, और फिर हो गई मौत

राठ। अपने खेत पर गन्ने से गुड़ बना रहा एक किसान पैर फिसलने से खोलते हुए कड़ाहे में जा गिरा। जानकारी होने पर परिजन किसान को उपचार के लिए मेडिकल कालेज उरई ले गए। जहां हालत नाजुक देख डॉक्टरों ने ग्वालियर के लिए रेफर कर दिया। ग्वालियर ले जाते समय रास्ते में किसान की मौत हो गई।
मझगवां थानाक्षेत्र के गुगरवारा गांव निवासी जगदीश राजपूत (40) बुधवार शाम अपने खेत पर गन्ने से गुड़ बना रहा था। कड़ाहे में गुड़ चलाते समय अचानक किसान का पैर फिसल गया और वह खोलते हुए गुड़ से भरे कड़ाहे में जा गिरा। यह देख खेत पर मौजूद ग्रामीणों में हड़कंप मच गया। टोला रावत गांव निवासी ससुर दयाराम ने बताया कि कड़ाहे में गिरने से वह गंभीर रूप से झुलस गया था। किसी तरह दामाद को कड़ाहे से निकाल परिजन उसे मेडिकल कालेज उरई ले गए।

जहां उसकी हालत नाजुक होने पर डॉक्टरों ने ग्वालियर के लिए रेफर कर दिया। बताया कि ग्वालियर ले जाते वक्त देर रात रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। किसान के नाम पर 8 बीघा कृषि भूमि है। जिसके कुछ हिस्से में वह गन्ने की फसल किए था। जबकि अन्य में चना, मटर आदि की फसल खड़ी है। इसी खेती से किसान अपनी पत्नी व बच्चों का पेट पालता था। किसान की मौत पर पत्नी तारा, पुत्री कमलेश (18), वर्षा (12) व पुत्र हेमंत (14) का रो रोकर बुराहाल है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।
Loading...