टिकटॉक ऐप की बढ़ती दिवानगी और लोकप्रियता के चक्कर में एक बार फिर एक युवक का जीवन दांव पर लग गया है। जिसमें एक 22 वर्षीय युवक अपने बैल के साथ एक टिकटॉक वीडियो बनाने के दौरान तालाब में डूब गया।जिसमें उसकी मौत हो गई। पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि यह घटना 21 नवंबर की दोपहर के आसपास में घटित हुई है। जिसमें कोयम्बटूर जिले के करुमथम्पट्टी के पास रायारपलायम के निवासी विग्नेश्वरन एक बैल पालक हैं और उनके घर में कई बैल हैं। वह बैल को राज्य भर में रेक्ला दौड़ और जल्लीकट्टू प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए तैयार करता है। बताया जा रहा कि वह बैल और खुद से जुड़ा हुआ वीडियो बना कर अपलोड करता था और टिक टॉक ऐप पर लोकप्रिय भी था।
जानकारी के मुताबिक वह और उसके दोस्त परमेस्वरन, बुवनेस्वरन और माधवन स्नान करने और अपने बैल को धोने के लिए वाडुगपालयम के एक तालाब में गए थे। उन्होंने गुरुवार को वीडियो अपलोड किया था जिसे 1,000 से अधिक बार देखा गया, जिसके बाद तीनों ने एक  उन्हें एक और वीडियो बना कर अपलोड करने का मन बनाया। एक वीडियो पर वियूज देखने के बाद उसी स्टंट को दोहराने के लिए एक बार फिर युवक उसी तालाब में  गुरुवार को गए। विग्नेस्वरन द्वारा टिकटॉक पेज पर छह दिन पहले अंतिम वीडियो अपलोड किया गया था। 

जिसमें पानी के अंदर एक सांड कूदता हुआ दिखाई दे रहा है, जिसमें दो युवक सांड को कुदाते हुए दिख रहे है। जब विग्नेश्वरन बैल पर थे, उनके दोस्त थोड़ी दूर खड़े होकर वीडियो बना रहे थे। इसी बीच अचानक, बैल परेशान हो गया और तालाब में एक गहरे क्षेत्र में चला गया, विग्नेश्वरन को उसकी पीठ से फेंक दिया। यह देखकर विग्नेश्वरन के दोस्तों ने उस तक पहुंचने और मदद करने की कोशिश की, लेकिन तालाब की गहराई के कारण वे नहीं पहुंच सके। बताया जा रहा कि विग्नेश्वरन को तैरना नहीं आता था। जिसके कारण तालाब में डूबने से उसकी मृत्यु हो गई।