छत्तीसगढ़ के रायपुर में नर्सिंग छात्रा के साथ उसकी बहन की हत्या करने का आरोपी मैहर में पकड़ा गया है। खबर थी कि वह वारदात करने के बाद विलसापुर से रीवा की ओर जाने वाली ट्रेन में सवार हुआ है। रायुपर पुलिस ने जब यह सूचना सतना पुलिस को दी तो मैहर कोतवाल देवेन्द्र प्रताप सिंह चौहान ने पुलिस पार्टी और मुखबिरों को सक्रिय कर दिया। ऐसे में मुख्य आरोपी पकड़ लिया गया। जिसे रायपुर पुलिस के सुपुर्द कर दिया गया है।
टीआइ कोतवाली मैहर ने बताया, नर्सिंग छात्रा और उसकी बहन की हत्या के फरार आरोपी के बारे में खबर मिली थी। पुलिस चौकन्नी होकर मैहर रेलवे स्टेशन में नजर रखे थी। जब ट्रेन गुरुवार की सुबह यहां ट्रेन आई तो आरोपी शैफ खान पुत्र शोएब अहमद अंसारी को दबोच लिया गया। आरोपी के मिलते ही इसकी सूचना रायपुर पुलिस को दी गई। रायुपर पुलिस की क्राइम ब्रांच टीम आरोपियों को पीछा कर रही थी। एेसे में कुछ घंटों में ही रायपुर पुलिस मैहर आकर आरोपी को साथ ले गई है।

जानकारी मिली है कि रायपुर के टिकरापार स्थित गोदावरी नगर में किराए के घर में नर्सिंग छात्रा मनीषा सिदार रहती थी। रायगढ़ के विनोबा नगर बेलाहुआ की रहने वाली बीएससी प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रही थी। उससे मिलने सोमवार को उसकी रिश्ते की बहन मंजूलता सिदार पहुंची थी। दोनों बहने कमरे में थीं। तभी मंगलवार की सुबह इनसे मिलने दो युवक पहुंचे। युवतियों खाना खाने की तैयारी में थीं, तभी पहुंचे युवकों ने विवाद किया और गैस पर रखे तबा से हमला बोल दिया। दोनों बहनों पर जानलेवा हमला करने के बाद आरोपी भाग निकले थे। जब युवतियों को अस्पताल भेजा गया तो डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

सीसीटीवी कैमरे में आरोपियों के चेहरे कैद हुए थे। इसी आधार पर रायपुर के एडिशनल सिटी एसपी प्रफुल्ल ठाकुर ने पुलिस टीमें दौड़ाईं। रायुपर पुलिस को खबर मिली कि दोनों आरोपी विलासपुर से रीवा तक जाने वाली चिरमिरी एक्सप्रेस में सवार हुए हैं। एेसे में सतना पुलिस से संपर्क किया गया। मैहर पुलिस का कहना है कि सुबह करीब 4 बजे ट्रेन आने पर आरोपी शैफ को पकड़ लिया गया है। जबकि उसका एक साथी शहडोल में उतरकर भाग निकला।