महिला के साथ गलत काम करते मिला प्रेमी तो घरवालों ने जो किया जानकर हैरान होंगे आप...

चाईबासा पुलिस ने प्रेम प्रसंग में पांच अपराधियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अपराधियों में मांगीलाल जोंको, बोनो सिंह जोंको, गुनल जोंको, धनश्याम जोंको और मानकी जोंको शामिल हैं। सभी को गुरुवार को न्यायालय में प्रस्तुत किया गया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। सदर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अमर कुमार पांडेय ने गुरुवार को बताया कि प्रेम प्रसंग में युवक की हत्या की गयी थी। उन्होंने बताया कि 11 जनवरी को मंझारी थाना में अज्ञात अभियुक्तों के विरुद्ध हत्या कर साक्ष्य छुपाने की नियत से कोकचो टोला, गितिलांगर स्थित कांदा-मांदा पहाड़ के तलहटी में शव फेंकने का मामला सामने आया था। 
loading...
इस संबंध में वादी द्वारा बताया गया कि 10 जनवरी की सुबह 8:00 बजे चाय पीने के क्रम में बाजार में चर्चा के दौरान पहाड़ की तलहटी में एक अज्ञात आदमी का शव होने की जानकारी प्राप्त हुई। इसके बाद ग्रामीण मुंडा एवं आसपास के ग्रामीणों द्वारा अज्ञात आदमी को पहचानने का प्रयास किया गया, लेकिन शव की शिनाख्त नहीं हो पायी। शव को देखने से ज्ञात हुआ कि किसी अन्यत्र स्थान पर हत्या कर साक्ष्य छुपाने की नियत से शव को जंगल में फेंक दिया गया है। मामले का खुलासा करने के लिए  एसपी इंद्रजीत महथा ने एक विशेष टीम का गठन किया। टीम ने अनुंसधान के क्रम में युवक की पहचान मंगल सोरेन उर्फ पालो सोरेन, पिता अर्जुन सोरेन आदित्यपुर जिला जमशेदपुर के रूप में की गयी।
एसडीपीओ ने बताया कि मृतक के परिजनों से पूछताछ के क्रम में जानकारी मिली कि मृतक मंगल सोरेन का प्रेम प्रसंग इलीगढ़ा थाना तांतनगर ओपी निवासी मांगीलाल जोंको की पत्नी से चल रहा था तथा मृतक 5 जनवरी से ही आरआईटी थाना अंतर्गत स्थित अपने आवास से फुटबॉल मैच खेलने की बात कहकर घर से निकला था। इसके बाद संदिग्ध मांगीलाल जोंको के घर पर 15 जनवरी की रात में छापेमारी की गई तथा छापेमारी के बाद उससे पूछताछ की गई। पूछताछ के क्रम में पता चला कि मंगल सोरेन का मांगीलाल जोंको की पत्नी से अवैध प्रेम प्रसंग चल रहा था।
इस संबंध में उसने मृतक को चेतावनी भी दी थी। मांगीलाल जोंको ने पूछताछ में बताया कि मंगलवार 7 जनवरी को मृतक उसके घर पर गया। जहां संदिग्ध एवं उसके परिजनों ने उसे घर के अंदर देखने के बाद अपने आंगन में बेरहमी पूर्वक लाठी से पिटाई की जिससे उसकी मृत्यु हो गई तथा साक्ष्य छुपाने की नियत से मांगीलाल ने अपनी स्कूटी पर मृतक के शव को बांधकर पहाड़ की तलहटी स्थित सुनसान जंगल में 8 जनवरी की रात्रि में फेंक दिया।
Loading...