राजगीर थानाक्षेत्र के बंगाली पाड़ा स्थित एक मकान में एक किशोरी ने शनिवार को खुदकुशी कर जान दे दी। मृतका नवादा जिला के नारदीगंज थाना क्षेत्र के संगोपुर पथरा गांव निवासी अरुण यादव की 13 वर्षीया इकलौती पुत्री पूजा कुमारी थी। अरुण वन विभाग राजगीर में नौकरी करते हैं। वह मोहल्ले के आलोक उपाध्याय के मकान में पिछले दो वर्षों से सपरिवार रह रहे हैं। मृतका के दादा रामविलास यादव ने बताया कि घटना के वक्त घर में कोई नहीं था। उनका पुत्र ड्यूटी पर गया था। वहीं किशोरी की मां बबीता देवी और घर के सभी सदस्य कुंड स्नान करने गए हुए थे। 
जब लौटे तो देखा कि पूजा ने घर के किचेन में खुदकुशी कर ली है। आनन-फानन में उसे अनुमंडलीय अस्पताल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। किशोरी नारदीगंज हाईस्कूल की नौंवी की छात्रा थी। वह राजगीर में रहकर कोचिग में पढ़ाई कर रही थी। थानाध्यक्ष संतोष कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया। किशोरी की मौत के बाद घर में कोहराम मच गया है। खुदकुशी की वजह पता नहीं चल सकी है।

पढ़ने में मेधावी थी पूजा, छोटे भाइयों को भी कराती थी होमवर्क
अगे रनियां काहे छोड़के चल गेना गे मैया। अगे हमर बेटवा। दुल्हनियां नियन केरा सजैवै गे मैया। मां बबीता देवी और दादी बतिया देवी का यह चीत्कार से पूरा माहौल गमगीन हो गया। वह चारों संतान में बड़ी थी। वह मेधावी छात्रा होने के साथ-साथ घर के सभी काम-काज में मां का हाथ बंटाती थी। वह अपने छोटे भाई सोनू कुमार, प्रिस कुमार व सचिन कुमार को भी स्कूल से मिले होमवर्क को पूरा कराती थी। पिता ने पढ़ाई के प्रति ललक को देखकर ही उसे राजगीर बुला लिया था। ताकि पढ़ लिखकर वह कुछ बन सके। इस घटना के बाद पूरा परिवार सदमे में हैं। और उनका रो-रो कर बुरा हाल है।