अयोध्या नगर इलाके में सागर इंस्टीट्यूट में रविवार को डॉ. हरिसिंह गौर केन्द्रीय विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित लिपिक भर्ती परीक्षा में हाईटेक तरीका अपनाकर पेपर हल कर रहे दो मुन्नाभाइयों को टीम ने दबोचा। परीक्षा शुरू होने के करीब 15 मिनट बाद ही दोनों आरोपियों की करतूत पकड़ी गई। टीम ने दोनों नकलचियों को अयोध्या नगर थाना पुलिस के हवाले कर दिया है। पुलिस ने इनके पास से मोबाइल सिम लगा ब्लूट्रूथ डिवाइस, कान में लगा कैप्सूल के आकार के रिसीवर जब्त किए हैं। दोनों आरोपी हरियाणा के रहने वाले हैं।
पुलिस की प्रारंभिक पूछताछ में आरोपियों की पहचान जिंद निवासी सुखविंदर, हिसार निवासी नवीन के रूप में हुई है। दोनों आरोपियों से पुलिस पूछताछ कर रही है। पुलिस को आशंका है कि सरकारी नौकरियों के परीक्षा में नकल कराने वाला शातिर गिरोह का हाथ होगा। पुलिस इनका पेपर साल्व करा रहे दूसरे आरोपियों की पहचान करने में जुटी है। अभ्यर्थी सुखविंदर परीक्षा आब्र्जबर एमएल खान, डॉ. आरके पाठक को देखकर नजर बचा रहा था। 

आशंका होने पर दोनों आब्र्जबर ने परीक्षा केन्द्र के बाहर आकर खिड़की से उस पर नजर रखी। वह चुपके-चुपके किसी से बात करते हुए पेपर सॉल्व कर रहा था। गड़बड़ी की आशंका होने पर दोनों आब्र्जबर ने परीक्षा केन्द्र में जाकर उसकी तलाशी ली, लेकिन कुछ नहीं मिला। इसके बाद उसे अलग कमरे में ले जाकर तलाशी ली गई। जहां, आरोपी के सीने में डिवाइस लगी हुई मिली।डिवाइस को आरोपी ने चिपका रखा था। इसी बीच उसने कान से कैप्सूल के आकार का रिसीवर निकाला।