आरोपी ने कहा हमने एक साथ बैठकर पिया शराब, और फिर आपस में झगड़े और हत्या करा दिया...

एसपीएम कामगार कल्याण केंद्र में 9 फरवरी को हुआ अंकित सोनी हत्याकांड का आज खुलासा किया गया। प्रेस वार्ता के दौरान पुलिस ने बताया कि अंकित सोनी की हत्या की गई थी। और यह हत्या उसके तीनों दोस्तो ने मिलकर की। अंकित की हत्या उसके तीनो दोस्तों ने मिलकर की थी। जहां पुलिस ने तीनों आरोपियो को गिरफ्तार कर लिया है। 
यह मामला पुलिस अधीक्षक संतोष गौर के मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक घनश्याम मालवीय, एसडीओपी मोहन सारवान के निर्देशन में कोतवाली पुलिस ने इस बात का खुलासा किया।आरोपी भूपेंद्र ने बताया कि उन्होंने अंकित सोनी के साथ एसपीएम कामगार कल्याण केंद्र के पास बने शेड में बैठकर शराब पी इसी दौरान अंकित सोनी का भूपेंद्र भुट्टा, सोनू नामदेव, आदर्श जाधव से विवाद हुआ तो सोनू नामदेव ने अंकित की एक्टिवा गाड़ी की चाबी निकाल ली इस पर अंकित की आरोपी सोनू और भूपेंद्र के बीच मारपीट हुई।

फिर आरोपियों ने अंकित के सिर पर पत्थर मारकर उसकी हत्या कर दी। बाद में भूपेंद्र अपने नाबालिग दोस्त के साथ वहां आया और अंकित की लाश फिर पत्थर पटके और उसकी जेव से मोबाइल, पर्स निकालकर लाश को झाड़ी में फेंक दिया। भूपेंद्र गुप्ता पिता राजेंद्र रोडे 21 साल निवासी गौरव नगर, सूर्या सोनू ऑफ चूचू पिता विष्णु नामदेव 26 साल निवासी लश्कर चौक, आदर्श पिता रामा यादव 20 साल निवासी संजय नगर ग्वालटोली, नाबालिग पिता अशोक चौके उम्र 17 साल निवासी गीता भवन रसूलिया।
Loading...