प्यार में पत्नी ने देवर के साथ मिलकर पति की कर दी हत्या, और फिर पुलिस को गुमराह करने के लिए बनाई झूठी कहानी....

धरमजयगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत संदिग्ध परिस्थिति में हुए ग्रामीण के मौत मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। बताया जा रहा है कि मृतक की पत्नी ने ही प्रेम प्रसंग में प्रेमी देवर के साथ मिलकर अपने पति की हत्या कर दी। वहीं पुलिस को झूठी कहानी बताने लगी। हालांकि आरोपी महिला की चालाकी नहीं चल सकी और पुलिस ने उसे व उसके प्रेमी को धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर लिया है। वहीं उन्हें रिमांड में जेल भेज दिया गया है।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम गेरसा निवासी टीकाराम राठिया मृतक बिशेश्वर के मौसी का बेटा था। कुछ सालों से टीकाराम का बिशेश्वर की पत्नी सहोद्रा राठिया के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। इसकी जानकारी बिशेश्वर को लग चुकी थी। घटना दिनांक को आरोपी टीकाराम मृतक के घर अपने गांव के किसी के यहां शादी का निमंत्रण देने आया था। इस दौरान रात में पत्नी के साथ संबंध की बात को लेकर बिशेश्वर ने टीकाराम के साथ झगड़ा किया। इसके बाद वह अपने कमरे में सोने चला गया। जबकि उसकी पत्नी दूसरे कमरे में सोने चली गई। 

रात में टीकाराम और मृतक की पत्नी ने उसे रास्ते से हटाने का प्लान बनाया। वहीं देर रात जब बिशेश्वर गहरी नींद में सो रहा था तो टीकाराम और सहोद्रा राठिया उसके कमरे में गए। फिर टीकाराम ने फ्लाईऐश के मजबूत ईंट से सो रहे बिशेश्वर के सिर पर प्राणघातक हमला कर दिया। इससे उसके सिर का भेजा बाहर गया और इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। घटना के बाद सहोद्रा पुलिस व घर वालों को गुमराह करने के लिए झूठी कहानी बनाने लगी। 

रात करीब दो बजे वह अपने पुराने घर से निकल कर सामने स्थित नए घर पहुंची। जहां उसके ससुर और देवर रहते हैं। इसके बाद अपने एक देवर बिदेश्वर को उठाकर बताई कि उसका पति बाहर टहलने निकला था, जो घर के आंगन में रक्तरंजिश हालत में पड़ा था, जिसे उठाकर वह घर के अंदर लेकर गई है। घायल के सिर में गंभीर चोट लगी है। इसके बाद बिदेश्वर अपने पिता और एक अन्य भाई तथा पड़ोसी को उठाकर मौके पर गया और अपने बड़े भाई को इलाज के लिए धरमजयगढ़ अस्पताल पहुंचाया, जहां सुबह पांच बजे उसकी मौत हो गई।

मृतक के सिर में चोट लगने से पुलिस को शंका हुई कि उसके सिर पर किसी ठोस वस्तु से हमला हुआ है। वहीं पुलिस को पता चला कि उस रात टीकाराम भी उनके घर में था। ऐसे में पुलिस ने उससे कड़ाई से पूछताछ किया तो उसने अपना जुर्म स्वीकारा। वहीं उसके और उसकी भाभी के संबंध के बारे में बताते हुए इस घटना में आरोपी महिला को भी शामिल होना बताया। इसके बाद पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर रिमांड में जेल भेज दिया है।
Loading...