दो परिवार मंदिर से दर्शन कर लौट रहे थे घर, तभी जीप का टायर फट गया और हो गया हादसा

ग्वालियर के नरवर में माता के दर्शन कर वापस लौट रहा दो भाईयों का परिवार जीप पलटने से हादसे का शिकार हो गया। उनके साथ घटना पंजाबीपुरा, मुरार में हुई। जीप का टायर फटने से गाड़ी सड़क से करीब नीचे खंती में उतरकर गुलांटे खा गई। उसमें बैठे लोग अंदर फंसे रहे गए। इसमें सुल्तान की मौके पर मौत हो गई। दो मासूम बच्चों सहित 11 लोग घायल हो गए। जख्मियों को इलाज के लिए मुरार के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जीप का ड्राइवर तेज रफ्तार में गाड़ी चला रहा था। उसमें बैठे लोगों ने कई बार उसे धीमे चलने के लिए टोका भी था, लेकिन चालक ने उनकी नसीहत अनसुनी की।
भूरासिंह नागर निवासी पलिया कॉलोनी, मुरेना ने बताया कि शनिवार को परिवार के साथ नरवर में लोहड़ी माता के दर्शन के लिए गए थे। चचेरे भाई सुल्तान सिंह का परिवार भी साथ गया था। नरवर जाने के लिए किराए की बोलेरो एमपी 07 बीए 058 को बुक किया था। सुबह दोनों परिवार के करीब 12 लोग जिसमें दो मासूम बच्चे भी थे जीप से नरवर गए। पूजा पाठ करने के बाद दोपहर करीब दो बजे वहां से वापस लौटे। शाम करीब 5 बजे मुरार और महाराजपुरा के बार्डर पर पंजाबीपुरा को क्रॉस कर रहे थे। तब जीप का टायर फट गया। गाड़ी असंतुलित होकर सड़क से करीब 100 मीटर नीचे उतर गई। तेज रफ्तार होने की वजह से ड्राइवर कंट्रोल नहीं कर पाया। जीप लहराकर करीब पांच गुलाटें खा गई। जहां पलटी वहां पानी भरा था। जीप में बैठे सभी लोग उसमें फंस गए।

ड्राइवर तेज चला रहा था, कई बार टोका पर नहीं माना
भूरा नागर ने बताया जीप का ड्राइवर जरूरत से ज्यादा तेज रफ्तार में गाड़ी चला रहा था। उसे कई बार टोका था धीमे रफ्तार में चलो। चालक उनकी बात को अनसुना करता है। पंजाबीपुरा से कुछ पहले उन्होंने प्यास लगने का बहाना कर पानी पीने के लिए गाड़ी रोकने का बहाना भी किया, लेकिन ड्राइवर ने फिर भी गाड़ी नहीं रोकी। कुछ दूर चलने पर सामने से ट्रक आ गया। उसे बचाने की कोशिश की। तेजी से ब्रेक लगाए उसी दौरान जीप का टायर फट गया। गाड़ी लहराकर सड़क से उतरी और गुलांटे खा गई। चचेरा भाई सुल्तान पीछे बैठा था। उनके सिर में गहरी चोट आईं। वहीं उनकी मौत हो गई। जबकि बाकी लोग जख्मी हो गए। वाहन चालक पर पुलिस ने एफआइआर की है।
Loading...