प्रेमिका को खुश करने के लिए कर दिया उसके पिता की हत्या और फिर....

दीपावली पर प्रेमिका को गिफ्ट देने का वादा करने वाले प्रेमी युवक ने कुछ ऐसा कि या जिसके बारे में कोई कुछ सोच भी नहीं सकता था। प्रेमिका से किया हुआ वादा पूरा करते हुए उसके पिता की ही प्रेमी युवक ने हत्या करवा दी। दीपावली पर ही उसने वादा किया था कि वह उसके पिता की हत्या कर देगा। इसके चलते उसने दो लाख रुपए में आदतन बदमाश को हत्या की सुपारी दे दी। हत्या के समय वह भी साथ रहा। दोनों ने मिलकर शव को घोड़ापछाड़ नदी में फेंक दिया। ताकि यह लगे कि मौत डूबने से हुई है। इस सनसनीखेज हत्याकांड का खुलासा गुरुवार को एसपी डॉ. शिवदयाल सिंह ने कि या है। 
आरोपित प्रेमी युवक श्रवण व उसके साथी जग्गा को गिरफ्तार कि या है। पुलिस ने आरोपितों से चाकू के साथ ही एक मोपेड जब्त की है। गुरुवार को एसपी डॉ. सिंह ने हरसूद निवासी प्रहलाद पिता जगन्नाथ चंदेल की हत्या का पर्दाफाश करते हुए बताया कि गत वर्ष 31 अक्टूबर को घोड़ापछाड़ नदी में प्रहलाद चंदेल का शव मिला था। उसके सिर पर चोट के निशान मिले थे लेकि न पता नहीं चल पा रहा था कि यह निशान कै से आए हैं। मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरु की गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह पता चला कि प्रहलाद की हत्या की गई है। इसके बाद उसके शव को नदी में फेंका गया। यह पता चलने के बाद पुलिसकर्मी मामले को सुलझाने में लग गए। मामले को सुलझाने में करीब तीन माह लग गए। इसके बाद आरोपित जगदीश उर्फ जग्गा पिता जगराज निवासी बोरी बांदरी और श्रवण पिता लक्ष्मीनारायण निवासी छनेरा को गिरफ्तार कि या है। एसपी ने सिंह ने बताया कि आरोपितों ने कबूल कि या है कि उन्होंने प्रहलाद चंदेल की हत्या की है।

श्रवण का कहना है कि प्रहलाद की बेटी के साथ उसका प्रेम प्रसंग था। इस बात का पता प्रहलाद को लग गया था। इसके चलते वह उनके रास्ते का कांटा बन गया था। उसे हटाने के लिए उसने योजना बनाई थी। प्रेमिका से उसने कहा था कि दीपावली की रात उसके पिता की आखिरी रात हो गई। दीपावली वह उसे इतनी खुशी देगा कि वह इसे संभाल नहीं पाएगी। उसे दीपावली का गिफ्ट उनके संबंध में अड़चन बन रहे पिता को हटाकर देगा। श्रवण ने प्रहलाद की हत्या की सुपारी दो लाख रुपए में आदतन बदमाश जग्गा को दे दी थी। 27 अक्टूबर को दीपावली के दिन सुबह करीब 8.30 बजे शराब दुकान के पीछे पिंटू के टपरे पर जग्गा शराब पी रहा था। उसने श्रवण को भी वहां बुला लिया। इसके बाद श्रवण ने प्रहलाद को फोन कर पिंटू के टपरे पर आने के लिए कहा। प्रहलाद ने कहा कि वह चोपाटी पर खड़ा है। यहां उसे लेने आ जाओ।

इसके बाद श्रवण और जग्गा उसे लेने पहुंच गए। चौपाटी से उसे बाइक पर बैठाकर पिंटू के कमरे पर ले आए। यहां दोनों ने प्रहलाद को जमकर शराब पिलाई। यहां से उसे ग्राम बोरी बांदरी जग्गा घर लेकर आ गए। यहां भी तीनों शराब पी। इसके बाद आरोपितों ने प्रहलाद को धक्का देकर गिरा दिया। इसके बाद बाइक की चाबी के छल्ले में लगे छोटे चाकू से श्रवण ने प्रहलाद के सिर पर वार कि प्रहलाद को अधमरा करने के बाद दोनों ने मिलकर उसका गला घोंट दिया। उसकी मौत हो जाने के बाद आरोपितों ने प्रहलाद का शव घोड़ा पछाड़ नदी के पुल से नीचे फेंक दिया था। आरोपित श्रवण और जग्गा को गिरफ्तार कर पुलिस ने खंडवा कोर्ट में पेश कि या है। यहां से दोनों को जेल भेज दिया गया।
Loading...