छोटे भाई की पत्‍‌नी को मारकर थाना पहुंच गया हत्यारा और फिर...

जमीन विवाद को लेकर रविवार देर शाम हरिहरपुर थाना क्षेत्र के जीतपुर आश्रम गली में आनंद प्रकाश श्रीवास्तव ने अपने छोटे भाई की पत्‍‌नी (भावज) रंजू देवी के सिर पर लोहे की पाइप से प्रहार कर हत्या कर दी। मां को बचाने गई भतीजी प्रिया श्रीवास्तव को भी गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। इसके बाद वह हरिहरपुर थाना पहुंच गया और दोष स्वीकार करते हुए आत्मसमर्पण कर दिया।
मामला जमीन विवाद का है। 48 वर्षीय रंजू देवी अपनी छोटी बेटी 28 वर्षीय प्रिया श्रीवास्तव व सात वर्षीय नतनी अर्सिता के साथ कालीपाड़ा कॉलोनी से जीतपुर की आश्रम गली अपने भैंसुर के घर जमीन व घर का हिस्सा देने की बात करने पहुंची थी। वहां दोनों ओर से बहस होने लगी। इसी बीच आनंद ने रंजू पर पाइप से हमला कर दिया। उसके सिर में गंभीर चोट आई। बीच-बचाव करने आई प्रिया को भी मारा। हरिहरपुर थाना के एएसआइ रघुनाथ मिज पुलिस टीम के साथ पहुंचे और दोनों घायलों को एंबुलेंस से तोपचांची सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा। 

वहां चिकित्सक ने रंजू को मृत घोषित कर दिया जबकि प्रिया को पीएमसीएच भेज दिया गया। 68 वर्षीय आनंद अपनी मां और बहन के साथ रहता है। वह अविवाहित है। मां की पेंशन से अपना जीविकोपार्जन करता है। गोमो दक्षिण पंचायत के मुखिया राजेंद्र सिंह उर्फ रवि, जगरनाथ महतो आदि भी पहुंचे। चश्मदीद सात वर्षीय अर्सिता ने पुलिस को घटना की पूरी जानकारी दी। उसने बताया कि शाम में नानी और मौसी कालीपाड़ा कॉलोनी से आश्रम गली आई थी। दोनों ओर से बाताबाती होने लगी। 

इसी बीच नाना आनंद प्रकाश लोहे की पाइप से नानी व मौसी को मारने लगे। आनंद ने हरिहरपुर थाना में पुलिस से कहा कि मुझसे बहुत बड़ा अपराध हो गया। अब जो भी सजा दें, भुगत लेंगे। उसने बताया कि मेरी भावज शाम करीब पांच बजे अपनी बेटी और नतनी के साथ पहुंची थी। हिस्सा व बंटवारा को लेकर घटना हुई। एक वर्ष पूर्व भी भावज ने मुझपर अपने भाई रमाशंकर श्रीवास्तव की अपहरण कर हत्या करने की शिकायत इसी थाना में की थी जबकि वह दिल्ली में निजी कंपनी में कार्यरत है। तीन माह बाद भावज ने धनबाद महिला थाना में मेरे खिलाफ छेड़खानी की शिकायत की थी।
Loading...