हेलीकॉप्टर में दुल्हन को लेने पहुंचा पुलिस का जवान, अपने मां की इच्छा को किया पूरा

हरियाणा पुलिस में सिपाही के पद पर तैनात गांव नीमली निवासी कवींद्र अपनी दुल्हन लेने हेलीकॉप्टर से गांव फतेहगढ़ पहुंचा. इस दौरान उडऩ खटोला को देखने के लिए लोगों की भीड़ जमा हो गई. बिना दान-देहज के शादी  कर कवींद्र अपनी दुल्हनियां ममता को लेकर उड़ गए. हेलीकॉप्टर में आई बारात यहां चर्चा का विषय बनी हुई है. शादी में दुल्हा ने अपनी मां की मंशा कायम रखते हुए एक रूपया का शगुन लिया और उडऩ खटोले में दुल्हन ले जाने का सपना पूरा किया.
बता दें कि जब किसी की शादी होती है तो दूल्हा दुल्हन यहीं चाहते हैं कि उनकी शादी के कुछ पल यादगार हों. इसके लिए वो कुछ खास करने की कोशिश करते हैं. ये मामला चरखी दादरी के गांव फतेहगढ़ का है, जहां पर रहने वाले की बेटी ममता सांगवान की बारात हेलीकॉप्टर से पहुंची. गांव नीमली निवासी हरियाणा पुलिस के जवान कवींद्र आज गांव फतेहगढ़ में ममता को जीवनसंगिनी बना कर साथ ले जाने के लिए हेलीकॉप्टर से पहुंचा.
क्षेत्र में पहली बार हेलीकॉप्टर में सवार होकर दुल्हे के आने की सूचना मिलते ही काफी संख्या में लोग हेलीपैड पर पहुंच गए. गांव फतेहगढ़ में वैवाहिक रस्में पूरा करने के बाद कवींद्र अपनी जीवनसंगिनी ममता को लेकर हेलीकॉप्टर को ही डोली बनाकर अपने साथ ले गया. दूल्हे ने सिर्फ एक रूपया शगुन के तौर पर लिया. बल्कि दोनों पक्षों ने शादी में देहज नहीं लेकर बेटियों की रक्षा करने का संकल्प लेते हुए समाज में नई दिशा देने का कार्य किया. हेलीकॉप्टर से आगमन के लिए स्थानीय प्रशासन ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए थे. हेलीकॉप्टर में आई बारात देखने के लिए लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा. 
लोगों में इस बात की भी चर्चा रही कि दूल्हे ने शादी से पहले दुल्हन से वादा किया होगा कि बाबुल के घर से तुझे लेने के लिए हेलीकॉप्टर से आऊंगा. अब दूल्हे ने अपना वादा निभाकर न केवल दुल्हन को खुश कर दिया बल्कि शादी को चरखी दादरी के लोगों के लिए भी यादगार बना दिया. कवींद्र का कहना है कि मां की इच्छा के अनुसार वह अपनी जीवनसंगीनी को लेने हेलीकॉप्टर से पहुंचा है. वहीं दुल्हन ममता ने बताया कि कभी सपने में भी नहीं सोचा था की उसकी शादी इतने हसीन पलों से होगी. बिना दान-देहज की शादी कर रहे हैं. उन्हें बहुत अच्छा लग रहा है कि वह हेलीकॉप्टर में ससुराल पहुंचेगी.
Loading...