चलती JCB के पंजे पर बैठ गई महिला, बोलीं..."हमारे मकानों में दरार आ रही है, नींव हिलने लगी है"

शुरुआत से विवादों से घिरी रही सीवरेज कंपनी का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। बनी बनाई सडक़ें खोदने का जहां विरोध हो रहा है वहीं अब लोगों के घरों में परेशानी आने लगी है। ऐसा ही कुछ शुक्रवार सुबह जवाहर नगर के पीछे बसे हरिओम नगर में हुआ जहां सीवरेज कंपनी के काम से महिलाएं आक्रोशित हो गईं और काम रुकवा दिया। महिलाएं जेसीबी के पंजे के आगे बैठ गई और खरीखोटी सुनाकर काम रुकवा दिया। इस मामले में सीवरेज कंपनी की ओर से कहा गया कि हमे नहीं पता। नगर निगम से बात करो।
दरअसल सीवरेज कंपनी का काम चलते हुए सालभर से अधिक हो चुका है। जब से इसकी शुरुआत हुई है तभी से शहर की हालत खराब हो रही है। पहली बार जब काम हुआ था तो बारिश में पूरा शहर कीचड़ में तब्दील हो गया था। जैसे-तैसे इस समस्या से शहरवासी उभरे थे कि बाद में बनी बनाई सीसी रोड खोदने का काम शुरू हुआ। जहां भी सीसी रोड बनाई थी वहां पर रोड खोद दिया। रिपेयरिंग के नाम पर भी खानापूर्ति की गई और यही वजह रही कि परिषद की बैठक में विरोध हुआ। पार्षदों ने अफसरों पर सीवरेज कंपनी से मिलीभगत के आरोप लगाए। इसकी जांच कमेटी बनाई गई। हालांकि हर बार की तरह कुछ नहीं हुआ और कंपनी का काम जारी है।
शुक्रवार को हरिओम नगर की महिलाएं घरों से बाहर आकर सडक़ों पर उतरीं। यहां सीवरेज कंपनी द्वारा खुदाई की जा रही थी। महिलाओं ने जेसीबी के आगे खड़े होकर काम रुकवा दिया। सीवरेज कंपनी का काम कर रहे कर्मचारियों को खरीखोटी सुनाई। महिलाएं कहने लगी कि मशीन की आवाज से घरों में दरारें आने लगी हैं। जो रोड पहले से बनी थी उसको खोद दिया। खुदाई के कारण घरों के बाहर के चैंबर फूट गए। पानी सडक़ पर आ गया। जो रोड पहले एक बार खोद दी थी उसे दोबारा खोदा गया। पाइपलाइन डालने की बात कही गई लेकिन जब पहले पाइपलाइन डाल दी थी तो फिर दोबारा खुदाई क्यों की। रहवासियों के अनुसार सीवरेज कंपनी वाले कहते हैं कि अब प्रोजेक्ट बदल गया है इस कारण दोबारा खुदाई करनी पड़ रही है।
महिलाओं ने बताया कि सीवरेज लाइन के कारण मकानों की नींव हिलने लगी है। कोई सुनने को राजी नहीं है। पार्षद से हमने बात की थी तो कहा कि ये तुम्हारी समस्या है तुम जानो। हमने कई बार ऑब्जेशन लिया मगर समस्या जस के तस है। दो बार सडक़ खोद दी। अब तो निकलना मुश्किल हो गया है। जिस जगह से काम सेंक्शन है वहां छोडक़र दूसरी जगह से रोड खोद दी है। वार्ड 19 की पूर्व पार्षद वंदना पांडेय ने बताया कि मैंने रहवासियों से बात की थी। उनकी समस्या जायज है। रहवासियों का कहना है कि मेन लाइन के लिए गहरी खुदाई करनी पड़ती है इस कारण दिक्कत आती है। लोगों का कहना है कि खुदाई के कारण परेशानी होती है इसलिए हैंड टू हैंड मरम्मत कर दी जाए। सीवरेज वालों ने मुझे भी सूचना नहीं दी कि वे खुदाई के लिए आ रहे हैं।इस बारे में मैं निगम अधिकारियों से बात करूंगी। मामले में नगर निगम अपर आयुक्त आरपी श्रीवास्तव ने बताया कि मेरे पास इस तरह की शिकायत नहीं आई है। यदि ऐसा कुछ है तो मैं पता करवाता हूं।
Loading...